सूदखोरो से परेशान दवा व्यापारी ने परिवार समेत की थी आत्महत्या, सुसाइड नोट में सूदखोरो को बताया था जिम्मेदार | Distressed by usurers, the drug dealer along with his family had committed suicide, in the suicide note, the usurper was told responsible : Shahjahanpur … the property of the usurers was attached by playing drums


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Shahjahanpur
  • Distressed By Usurers, The Drug Dealer Along With His Family Had Committed Suicide, In The Suicide Note, The Usurper Was Told Responsible : Shahjahanpur … The Property Of The Usurers Was Attached By Playing Drums

शाहजहांपुर16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ढोल बजवाकर सूदखोर की संपत्ति कुर्क।

शाहजहांपुर में एक साल पहले सूदखोर से प्रताड़ित होकर दवा व्यापारी ने परिवार समेत आत्महत्या के मामले में दो सूदखोरो की संपत्ति को प्रशासन ने कुर्क कर दी है। कुर्की की कार्रवाई करने के लिए पुलिस-प्रशासन के अधिकारी और साथ ही ढोल बजाने वाले भी पहुंच गए। प्लाट पर बोर्ड लगाया और उसके बाद पुलिस ने माइक पर ऐलान कर बताया कि किस तरह गलत क्रियाकलापो के साथ संपत्ति को बनाया गया है। जिसको प्रशासन कुर्क कर रहा है। वहीं ढोल बजने के बाद आसपास बड़ी संख्या में लोग जमा हो गये।

कोई कमाई नहीं लेकिन बना ली लाखो की संपत्ति

चौक कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कच्चा कटरा के रहने वाले दवा व्यापारी अखिलेश गुप्ता ने कांट थाना क्षेत्र के मरहैया गांव निवासी सूदखोर अविनाश वाजपेयी और कच्चा कटरा के रहने वाले सूदखोर सुशील गुप्ता से प्रताड़ित होकर पत्नी और दो बच्चो के साथ घर के अंदर फासी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। घर के अंदर मिले सुसाइड नोट में दवा व्यापारी ने सूदखोर को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया था। उसके बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। तीन आरोपियों पर पुलिस ने गैंगस्टर की कार्रवाई की थी। उसके बाद पुलिस ने डीएम उमेश प्रताप सिंह से सूदखोरो की संपत्ति पर कार्रवाइ करने के लिए पत्र लिखा था। डीएम ने सूदखोर अविनाश वाजपेयी और उसके साथी सुशील गुप्ता की संपत्ति की जांच कराई तो उनकी कोई कमाई का जरिया नहीं मिला और उनके पास लाखो रुपये की संपत्ति मिली। जिसके बाद डीएम ने दोनो सूदखोरो की 60 लाख रुपये की संपत्ति को कुर्क करने के आदेश दिये। 22 अप्रैल तक कार्रवाई की आख्या रिपोर्ट देने के निर्देश दिये थे।

दोनो सूदखोरो की 60 लाख रुपये की संपत्ति की कुर्क

बोर्ड पर लिखाया गया कि गलत क्रियाकलापो में लिप्त होकर संपत्ति बनाई थी

बोर्ड पर लिखाया गया कि गलत क्रियाकलापो में लिप्त होकर संपत्ति बनाई थी

आज पुलिस प्रशासन के अधिकारी ढोल नगाड़ो और कई बोर्ड के साथ चौक कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला वर्कजई स्थित सुशील गुप्ता के प्लाट पर पहुंच गए। जहां सुशील गुप्ता के दो प्लाट हैं। एक प्लाट करीब 115 गज जिसकी कीमत करीब 8 लाख 22 हजार रुपये और दूसरा 70 गज का जिसकी कीमत करीब साढ़े पांच लाख रुपये है। दोनो प्लाटो पर पुलिस ने खुदाई कराकर एक बोर्ड लगाया। जिसके उपर लिखा था कि सुशील गुप्ता ने गलत क्रियाकलापो से अर्जित किये धन से प्लाट खरीदा गया है। इसलिये इस संपत्ति को कुर्क करने की कार्रवाई की जा रही है। उसके बाद पुलिस प्रशासन के अधिकारी मुख्य आरोपी सूदखोर अविनाश वाजपेयी के प्लाट मोहल्ला अब्दुल्लागंज पहुंची। जहां पर उसको भी कुर्क करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई।

सूदखोर से प्रताड़ित परिवार ने की थी आत्महत्या

दवा व्यापारी अखिलेश गुप्ता पत्नी और दो बच्चो के साथ

दवा व्यापारी अखिलेश गुप्ता पत्नी और दो बच्चो के साथ

सूदखोर अविनाश वाजपेयी ने दवा व्यापारी अखिलेश गुप्ता को 12 लाख रुपये सूद पर दिये थे। उसके बदले में सूदखोर ने दवा व्यापारी का मकान का बैनामा अपने नाम करा लिया था। और ये भी कहा था कि जब रुपये वापस कर दोगे तब बैनामा भी उसके नाम पलट देंगे। सात जून वर्ष 2021 को करीब 12 बजे सूदखोर ने दवा व्यापारी को फोन कर घर खाली करने के लिए कहा था। जिससे दवा व्यापारी परेशान हो गया। उसने कुछ मोहलत मांगी और पत्नी ने भी काफी गुहार लगाई थी। तब सूदखोर ने कहा था कि अगर घर खाली नही करना है तो उसके बदले 70 लाख रुपये देना पड़ेगा। पत्नी ने तीन घंटे तक मोहलत देने की गुहार लगाई कि वह अपना कुछ जरूरी सामान इकट्‌ठा कर ले, उसके बाद चार बजे तक घर खाली कर देंगे। लेकिन सूदखोर ने परिवार को एक घंटे की भी मोहलत देने से इंकार दिया था। और कहा था कि घर के अंदर से कुछ भी ले जाना नहीं। ये सुनकर आखिरकार पत्नी ने रोकर कहा था कि ठीक है अब इस घर से कभी कुछ नही ले जाएंगे। बिलकुल खाली हाथ जाएंगे। एक घंटे बाद दवा व्यापारी उसकी पत्नी और दो बच्चे घर के अंदर फांसी के फंदे पर लटके हुए मिले थे। सूदखोर और दवा व्यापारी की पत्नी के बीच हुई बातचीत की आडियो रिकार्डिंग भी वायरल हुई थी।

खबरें और भी हैं…

.



Source link

%d bloggers like this: